कार्पोरेट सामाजिक दायित्व

अंडे बदलाव ला रहे हैं – भूखों को भोजन देते हैं और दुनिया को बचाते हैं

अंडा उद्योग यह सुनिश्चित करने के लिए प्रतिबद्ध है कि दुनिया भर के लोगों की स्थायी, अच्छी गुणवत्ता वाले भोजन की आपूर्ति तक पहुँच हो। आपने अक्सर संगठनों को उनके कार्पोरेट सामाजिक दायित्व के बारे में बात करते हुए सुना होगा; अंडा उद्योग उनसे अलग है – हम केवल बात ही नहीं करते, बल्कि हम इसके बारे में कुछ करते भी हैं।
अंडा व्यापार की प्राथमिकता दुनिया भर में भूखों को उच्च गुणवत्ता वाला भोजन उपलब्ध कराना है। अंडों को दान देने के साथ-साथ, हम विकासशील देशों के साथ काम भी करते हैं, ताकि समुदायों के लिए स्थायी अंडा आपूर्ति स्थापित करने में मदद मिल सके।

यहाँ कुछ ऐसे सामुदायिक और पर्यावरणीय परियोजनाओं की सूची दी गई है, जिनके साथ अंडा कारोबार 2009 से शामिल रहा है:

मोज़ाम्बिक और जिम्बाब्वे में स्कूलों की स्थापना। दुनिया भर के स्कूलों, अनाथालयों और अस्पतालों में अंडों का अनुदान देना, जिसमें शामिल हैं: भारत, मेक्सिको, कोलंबिया, बारबाडोस, थाईलैंड, इटली, फिनलैंड और चेक गणराज्य।
नीदरलैंड के रॉटरडैम में अनूठे पर्यावरण भवन का निर्माण, जो कर्मचारियों की कारों के कार्बनडाइऑक्साइड (CO2) के उत्सर्जन को बेअसर करने के लिए काम करता है। हैती में आए भूकंप के बाद 3 मिलियन से अधिक अंडों का दान करके हैती के लोगों की सहायता करना।
जापान में वन सुधार परियोजना। मोजाम्बिक में एक अंडा उत्पादन सुविधा की स्थापना करना, ताकि क्षेत्र के लिए लाभदायक, स्थायी खाद्य-आपूर्ति उपलब्ध हो सके।
न्यूजीलैंड में होक्स बे समुदाय ट्रस्ट के लिए अनुदान, जो बायोडाइनैमिक और जैविक उत्पादन को बढ़ावा देता है। हर साल 50 मिलियन से भी अधिक अंडे धर्मार्थ संगठनों, भूख राहत कार्यक्रमों और दुनिया भर के खाद्य बैंकों में दान किए जाते हैं।
फुटबॉल स्कूलों को स्थापित करने में सहायता करना ताकि सिएरा लियोन में बच्चों को लाभ मिल सके।
हम दुनिया के सीमित संसाधनों के साथ 9 अरब लोगों को कैसे खिला सकते हैं?
अगले 40 वर्षों के दौरान, दुनिया भर की जनसंख्या में 3 अरब लोगों की वृद्धि होने की उम्मीद है। यह अनुमान लगाया गया है कि वर्तमान में एक अरब लोग अल्पपोषित और कुपोषित हैं। वैश्विक स्तर पर हमारे पास सीमित संसाधन हैं, फिर भी हमें अधिक भोजन का उत्पादन करने की आवश्यकता है।
एक निम्न कार्बन – अंडे सामाजिक रूप से ज़िम्मेदार हैं
अनुसंधान से पता चलता है कि गोमांस या सुअर के मांस के उत्पादन की तुलना में अंडा उत्पादन से कार्बन में काफी कमी होती है। अंडे देने वाली मुर्गियों में मुख्य रुप से उनकी उच्च भोजन क्षमता की वजह से कम ग्रीनहाउस गैस का उत्सर्जन होता है। अंडे 9 अरब लोगों को खिलाने के लिए हमारे संसार के सीमित संसाधनों का उपयोग करने की दुविधा के लिए सामाजिक रूप से एक जिम्मेदार समाधान प्रदान करते हैं।