जीवन का परिपूर्ण आरम्भ अंडे की आकृति में होता है

शुक्रवार, 13 अक्तूबर 2017 शानदार दिन होग जब हम विश्व अंडा दिवस का जश्न मनाएंगे। इस वर्ष विभिन्न प्रकार के अन्तरराष्ट्रीय कार्यक्रमों और अभियानों में प्रचार किया जाएगा कि हमारे जन्म से पहले से ही वैश्विक समुदाय की पौष्टिक आवश्यकताओं को पूरा करने में अंडे का क्या योगदान रहा है।

 

प्रत्येक व्यक्ति के शरीर के लिए लाभ

मानव विकास के बिलकुल आरम्भिक चरण में ही अंडे की महत्वपूर्ण भूमिका होती है, तथा यह हमारे समग्र जीवनकाल के दौरान महत्वपूर्ण लाभ पहुंचा सकता है। अंडा समग्र विश्व को संवहनीय तरीके से भोजन प्रदान कर सकता है, तथा इसमें उच्च गुणवत्ता वाले प्रोटीन, आवश्यक विटामिन तथा खनिज होते हैं, जो निम्नलिखित बातों के लिए आवश्यक है:

  • भ्रूण का विकास
  • छोटे बच्चों में मस्तिष्क का स्वस्थ तरीके से विकास
  • विद्यालय, कार्य और खेलकूद में ध्यान केन्द्रित करने की क्षमता को बेहतर बनाना

 

अंडे द्वारा प्रदान किए जाने वाले स्वास्थ्य लाभों, विशेष रूप से बच्चों को मिलने वाले लाभों के सम्मान में इस वर्ष के विश्व अंडा दिवस पर रोमांचक एग-साइटिंग ट्विस्ट होगा, जिसमें आयोजक बच्चों और वयस्कों को समान रूप से आमंत्रित करेंगे कि वे अपने सोशल नेटवर्क्स के माध्यम से अंडे के बारे में अपने सबसे मजेदार चुटकुले साझा करके हंसे और खिलखिलाएं।

 

बड़ी सम्भावनाओं और बड़ी खुशियों वाला छोटा अंडा

इस वार्षिक कार्यक्रम को वर्ल्ड एग ऑर्गेनाइजेशन (WEO) द्वारा आयोजित किया जाता है। WEO के महानिदेशक जूलियन मैडले बताते हैं कि इस वर्ष की गतिविधि कैसे लोगों के चेहरे पर मुस्कान लाएगी: पिछले 22 वर्षों के दौरान, हमने लोगों को हमारे जीवन पर अंडे हो सकने वाले सकारात्मक प्रभावों के बारे में बताया है। वे न केवल सार्वभौमिक रूप से हमारे स्वास्थ्य के लिए लाभप्रद हैं; बल्कि मैंने पाया है कि ये सार्वभौमिक रूप से मजेदार भी हैं! विकसित और विकासशील दोनों ही देशों में प्रोटीन का उच्च गुणवत्तापूर्ण स्रोत मूलभूत आवश्यकता है; और यह बहुत गम्भीर संदेश है। तथापि, हम बच्चों और उनके माता-पिता को इस मासूम अंडे के मजेदार पहलू के बारे में साझा करने के लिए प्रोत्साहित करके यथासम्भव अधिकतम लोगों से जुड़ना भी चाहते हैं।

 

अंडे की बढ़ती प्रसिद्धि

विश्व अंडा दिवस ऑस्ट्रेलिया से लेकर जिम्बॉब्वे तक, 40 से ज़्यादा देशों में मनाया जाता है। पिछले वर्ष इस अभियान में अन्तरराष्ट्रीय धर्मार्थ संगठनों से लेकर प्रीमियर लीग फुटबॉल क्लब तक विविध प्रकार के संगठनों ने सहभागिता की थी। वर्ष 2017 में यह कार्यक्रम और भी अधिक व्यापक जनसमूह तक पहुंचने के लिए तैयार है, क्योंकि हम सभी ग्लोरियर गिगल्स को न्ज्वॉय (Enjoy Glorious Giggles) करते हैं।

 

स्वाजीलैंड में प्रोजेक्ट कैनान में इन्टरनेशनल एग फाउंडेशन की सम्बद्धता — विश्व में अच्छे प्रोटीन के शक्तिशाली स्रोत के रूप में अंडे का उत्कृष्ट उदाहरण है। वैश्विक अंडा उद्योग के संयुक्त प्रयासों ने आसपास के ग्रामीण समुदाय में स्थानीय अनाथों और बच्चों को अंडों के माध्यम से प्रोटीन का आवश्यक उच्च गुणवत्तापूर्ण स्रोत प्रदान किया है; अनुमानित रूप से यह एक अरब लोगों को प्रोटीन प्रदान करता है।

प्रकृति के प्रीमियम प्रोटीन के बारे में जागरूकता फैलाएं

प्रोटीन और आवश्यक पोषक तत्वों से भरपूर अंडे परिपूर्ण खाद्य समाधान प्रदान करते हैं। लोगों तक यह सरल संदेश पहुंचाएं, और, और आप शुक्रवार, 13 अक्तूबर को इस एग्स-ट्राऑर्डिनरी समारोह का हिस्सा बन सकते हैं। यह मासूम अंडे द्वारा दुनिया भर के लोगों के चेहरे पर हंसी लाने वाला दिन होगा।

 

अपने सोशल मीडिया पर #WorldEggDay का उपयोग करना न भूलें

इस विश्व अण्डा दिवस पर  यह गम्भीर होने का समय है

इस वर्ष विश्व अण्डा दिवस, शुक्रवार 11अक्टूबर, को पूरे विश्व के लोगों को अण्डों को पकाने और अण्डों के रोलिंग प्रतियोगिताओँ के लाभ का मनोरंजन लेने के साथ साथ, अन्तराष्ट्रीय अण्डा कमिशन (International Egg Commission (IEC),  जो एक ग़ैर-सरकारी संगठन है जो दुनिया भर में अण्डा उद्योग का प्रतिनिधित्व करता है, वह गम्भीर हो रहा है वह दुनिया भर में भूख के बारे में गम्भीर हो रहा है।

IEC UN’s Food and Agriculture Organization (FAO) के साथ काम कर रहा है जिससे दक्षिण अफ़रीका के नौ देशों में सरकारों और अण्डा उत्पादकों को सहायता से जानकारी बाँट सकें और अण्डों के पौषटिक मूल्य के साथ साथ, अण्डा उत्पादन और रोग प्रबंधन की तकनीकी सलाह के बारे में लाभदायक प्रयोगात्मक सलाह और समर्थन मिल सके। इसलिए इस वर्ष विश्व अण्डा दिवस पर, अण्डों की प्रतियोगिताओँ और आयोजनों का मनोरंजन लेने के साथ साथ, पूरी दुनिया में कम पौषटिक लोगों के आहार में अण्डों की महत्वपूर्ण भूमिका के बारे में कुछ क्षण लें।

जूलियन मैडले (Julian Madeley), IEC के निदेशक जनरल ने बताया:  “आज दुनिया में यह अनुमान लगाया गया है कि, एक बिलियन लोगों को पूरा खाना नहीँ मिलता है और वह कुपोषित हैं, और यह स्थिति अगले 40 वर्षों में और भी ख़राब होने वाली है, क्योंकि दुनिया भर की जनसंख्या और बढ़ कर 3 बिलियन लोगों की होने वाली है।

“सभी को यह स्वीकार नहीँ है, और पूरे अण्डा उद्योग की ओर से, IEC वह सब कुछ करने के लिए वचनबद्ध है जो हम कर सकते हैँ जिससे भूख को रोका जा सके। इसमें अण्डों की महत्वपूर्ण भूमिका है; साथ ही में ऊँचे पैमाने के प्रोटीन का एक बेहतरीन स्रोत है, जिसमें ज़रूरी विटामिन और खाद्य पदार्थ होते हैँ जो स्वस्थ ख़ुराक के लिए ज़रूरी है, यह आम आदमी की पहुँच मेँ है और अधिकतर दुनिया में यह खाने का एकदम उपलब्ध स्रोत है। भूख, खाने की असुरक्षा और कुपोषण को हटाने के लिए हम FAO के साथ काम करने के लिए वचनबद्ध हैं।” 

सितम्बर में, इस वर्ष के विश्व अण्डा दिवस के पहले, IEC और FAO ने साथ मिल कर लुसाका, जो कि ज़ाम्बिया की राजधानी है मिल कर एक सैमिनार किया। अंगोला, बोत्सवाना, लेसोथो, मालावी, मोज़ाम्बीक, नामिबिया और ज़िम्बाब्वे के सरकारी प्रतिनिधी, पशुओं के चिकित्सक और अण्डा उत्पादकों के साथ आस्ट्रेलिया, कैनेडा, साऊथ अफ़रीका और यू.ऐस.ए. से  IEC के सदस्य मिले। प्रतिनिधियों ने अपने-अपने देशोँ में आज की चुनौतियों का मुकाबला करने के बारे में बातचीत की, और अण्डे के उत्पादन को बढ़ाने और उनके क्षेत्रों में अन्तत: इसकी खपत को बढ़ाने के तरीकों के बारे में जानकारी और प्रयोगात्मक सलाह को बाँटा।

IEC और FAO में लुसाका में गोष्ठियों (सैमिनारोँ) इस प्रकार की पहली पहली-कदमी थी; इसकी प्रतिक्रिया काफ़ी सकारात्मक थी, और यह दो संस्थाएँ काफ़ी समर्थन प्राप्त करने की आशा रखतीँ हैँ जिससे दुनिया के दूसरे भागोँ में इसी तरह की गोष्ठियों (सैमिनारोँ) के कार्यक्रमों लाने की योग्यता मिल सके।